कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग लगने तथा इससे पांच लोगों की मौत की घटना पर दुख जताया और महाराष्ट्र सरकार से पीड़ित परिवारों की हर संभव सहायता करने का आग्रह किया।

नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग लगने तथा इससे पांच लोगों की मौत की घटना पर दुख जताया और महाराष्ट्र सरकार से पीड़ित परिवारों की हर संभव सहायता करने का आग्रह किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह जानकर बहुत दुख हुआ कि सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना में पांच लोगों की मौत हुई है। वहां पुन: आग की एक और खबर बहुत चिंताजनक है। मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मैं राज्य सरकार से आग्रह करता हूं कि वह आग में झुलसे लोगों और पीड़ित परिवारों को हर जरूरी मदद मुहैया कराएं।’’ गौरतलब है कि कोरोना वायरस वैक्सीन कोविशील्ड का उत्पादन करने वाली पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में गुरुवार दोपहर को लगी भीषण आग में 5 लोगों की मौत हो गई। 

इमारत की पांचवीं मंजिल से 5 लोगों के शव बरामद किए गए, जिसमें 4 पुरुष और एक महिला है। आग लगने की वजह का अभी तक पता नहीं चल सका है, लेकिन बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में वेल्डिंग का काम चल रहा था, जिसके चलते आग लगी। सीएम उद्धव ठाकरे शुक्रवार (22 जनवरी) को सीरम इंस्टीट्यूट जाएंगे।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला ने कहा कि आग की घटना से कोविशील्ड टीकों के निर्माण को कोई नुकसान नहीं हुआ है। कोविड-19 के राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम के लिए ‘कोविशील्ड’ टीके का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट के मंजरी केन्द्र में ही किया जा रहा है। 

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की घटना पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना में जान जाने से दुखी हूं। इस दुख की घड़ी में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार के प्रति हमारी संवेदना है। घायल लोगों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here